इतिहास

सारले पंचायत प्रखंड मुखयालय से 9 की0 मी0 की दूरी पर है। इस पंचायत के पूरब में उमेडंडा पंचायत, पच्च्चिम में खलारी प्रखण्ड, उत्तर में छापर पंचायत और दक्षिण में मक्का पंचायत पड़ता है। यहां की कुल आबादी 8000 है।

विकास कार्य

विकास कार्य: ग्राम पंचायत के द्वारा गाँवों में सड़क, पुलिया, तलाब, सोलर लाइट, भवन निर्माण एवं वृक्षारोपण का कार्य कराया जा रहा है|

 

इतिहास

सारले पंचायत प्रखंड मुखयालय से 9 की0 मी0 की दूरी पर है। इस पंचायत के पूरब में उमेडंडा पंचायत, पच्च्चिम में खलारी प्रखण्ड, उत्तर में छापर पंचायत और दक्षिण में मक्का पंचायत पड़ता है। यहां की कुल आबादी 8000 है। यह पंचायत चारो तरफ से जंगलों से घिरा हुआ है तथा उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र है। यहां के कई युवक उग्रवादी गतिविधियों में संलिप्त रहने के संदेह में जेल जा चुकें हैं। आए दिन उग्रवादी गतिविधियां सुनने को मिलती रहती हैं। यहां की कुल आबादी का 25 प्रतिशत आदीवासी है। यहां अन्य जाती के लोगों में मुस्लिम एवं कुर्मी महतो की आबादी ज्यादा है। यहां की साक्षरता दर 25 प्रतिशत है। अधिकतर लोग मजदूरी करके तथा लकड़ी बेचकर अपनी आजीविका चलाते है यह उनका मुखय पेशा है। कुछ लोग साइकिल से अवैध कोयले की ढुलाई कर जीवन यापन करते हैं। इस पंचायत में 4 प्राथमिक विद्यालय एवं एक मध्य विद्यालय है। उच्च विद्यालय की पढाई के लिए उमेडण्डा उच्च विद्यालय जाना पड़ता है।